लखनऊ[राज्यब्यूरो]।उत्तरप्रदेशतेंदुओंकीबढ़तीसंख्याऔरमानवोंकेसाथबढ़तेसंघर्षकोदेखतेहुएचारलेपर्डरेस्क्यूसेंटरबनानेकेप्रस्तावनेअंतिमबाधाभीपारकरलीहै।सेंट्रलजूअथारिटी(सीजेडए)नेचारोंरेस्क्यूसेंटरबनानेकेप्रस्तावपरमुहरलगादीहै।सीजेडएनेरेस्क्यूसेंटरमेंबननेवालेबाड़ेकेडिजाइनवमास्टरले-आउटकोमंजूरीदेदीहै।यहसेंटरपीलीभीत,महाराजगंज,चित्रकूटवमेरठमेंबनाएजाएंगे।'प्रोजेक्टलेपर्ड'केतहतबननेवालेइनरेस्क्यूसेंटरमेंप्रदेशमेंकहींसेभीपकड़ेजानेपरइन्हेंयहांरखाजाएगा।यहांरखकरतेंदुओंकाइलाजकियाजाएगा।सेहतमंदहोनेपरइन्हेंवापसजंगलोंमेंछोड़दियाजाएगा।

दरअसल,टाइगररिजर्वमेंबाघ,तेंदुओंकोरहनेनहींदेतेहैं।इसकारणतेंदुएजंगलोंसेसटीआबादीवालेइलाकोंमेंरहतेहैं।यहांतेदुओंकोआसानीसेशिकारमिलजाताहै।यहीवजहहैकिआएदिनतेंदुएरिहायशीइलाकोंमेंदेखेजारहेहैं।कईस्थानोंपरमानव-वन्यजीवसंघर्षभीहोरहेहैं।अभीतेंदुआपकड़ेजानेपरउसेचिड़ियाघरमेंरखाजाताहै।प्रदेशमेंअभीलखनऊ,कानपुरवगोरखपुरचिड़ियाघरहैं।चिड़ियाघरपहलेसेफुलचलरहेहैं।इसलिएसरकारनेप्रोजेक्टलेपर्डशुरूकररेस्क्यूसेंटरबनानेकानिर्णयलियाहै।

यहसेंटरक्षतिपूरकवनीकरणकोषप्रबंधनएवंयोजनाप्राधिकरण(कैंपा)योजनासेबनाएजारहेहैं।प्रत्येककेंद्रकरीबपांचकरोड़रुपयेकीलागतसेबनेंगे।प्रधानमुख्यवनसंरक्षकवन्यजीवपवनकुमारशर्मानेबतायाकिरेस्क्यूसेंटरकोसीजेडएकीमंजूरीमिलगईहै।अबजल्दहीकैंपासेइसकेलिएबजटमिलजाएगा।शासनसेकार्यदायीसंस्थानामितकरनेकेलिएपत्रभेजागयाहै।संस्थानामितहोतेहीरेस्क्यूसेंटरबनानेकापैसादेदियाजाएगा।इसकेबननेसेरिहायशीइलाकोंमेंपकड़ेजानेवालेतेंदुओंकोयहांरखाजाएगा।जबवेसेहतमंदहोजाएंगेतोउन्हेंवापसजंगलोंमेंछोड़दियाजाएगा।

By Dyer