समाजवादीपार्टी(सपा)कोबहुमतमिलनेकीखबरप्रसारितहोतेहीललितपुरजिलेकेपुराखुर्दकेकिसानझूमउठे.वजहःसपासरकारबैंकोंसेलिएगए50,000रु.तककेकर्जमाफकरदेगी.सपाप्रमुखमुलायमसिंहयादवनेअपनीसभीरैलियोंमेंकिसानोंकाकर्जामाफकरनेकीघोषणाकीथी.उनकीघोषणाकेबादसेहीराज्‍यकेविभिन्नजिलोंकेकिसानोंनेकर्जकीकिस्तेंरोकदीं.

पुराखुर्दगांवमेंरहनेवाले27किसानोंनेइसबारजाड़ेमेंबैंकसेकर्जलेकरअदरककीखेतीकी.भीषणजाड़ेकेचलतेपूरीफसलतबाहहोगई.किसानहरिरामबतातेहैंकिपिछलेसालग्रामीणबैंकसेलिएगए50,000रु.केकर्जकोअबचुकानेकासमयआगयाथा.वेकहतेहैं,‘जनवरीमेंजबयहसुनाकिसपासरकारबननेपरकिसानोंकाकर्जमाफहोजाएगातोइसआसमेंबैंककेनोटिसकाजवाबनहींदिया.’

झांसीकेचिरागांवनिवासीरामप्रसादपरभी60,000रु.काकर्जहैऔरउन्होंने‘पहलीकिस्तभीजमानहींकीहै.हमीरपुरऔरझंसीकेजिलाकृषिअधिकारीकार्यालयोंकेमुताबिक,करीबएकलाखसेअधिककिसानोंनेबैंकोंसेकर्जलेरखाहै.बहराइचमेंतरनपुरकेकईकिसानोंनेभीबैंकोंकोअपनेकर्जकीकिस्तेंरोकदीहैं.किसानसरवरखानबतातेहैं,‘समाजवादीपार्टीनेसरकारबननेकेबादकर्जमाफीकीबातकहीहैऐसेमेंजनवरीऔरफरवरीकेमहीनेकीकिस्तेंनहींजमाकीहैं.’बहराइचकेसहकारीसमितियांकेसहकारीनिबंधकए.के.सिंहबतातेहैंकिवहांकिसानोंकोकर्जकेरूपमेंकरीब6करोड़रु.बांटेगएहैं.

कानपुरकेरौतापुरनिवासीकिसानअशोककुमारअवस्थी,पुखरायांनिवासीअनूपसचानऔरचौबेपुरनिवासीसिद्घनाथउनहजारोंकिसानोंकीसूचीमेंशामिलहैंजिन्होंनेकिस्तेंदेनीबंदकरदीहैं.इसीतरहमहाराजगंजकेकोलहुईस्थितस्टेटबैंकऑफइंडियाकीशाखासेकर्जलेनेवालेकिसानराजेंद्रकुमारऔरप्रदीपनेभीकर्जअदायगीरोकदीहै.

लखनऊकेजिलाकृषिअधिकारीओ.पी.मिश्रबतातेहैंकिबीतेएकवर्षकेदौरानलखनऊके40,324किसानोंको92.17करोड़रु.काकर्जबांटागयाहै.लेकिनपिछलेदोमहीनेमेंदूसरेजिलोंकीतरहयहांभीडिफॉल्टरकिसानोंकीसंख्यामें20गुनासेअधिककाइजाफाहोचुकाहै.

किसाननेतासुनीलसिंहकहतेहैंकिपिछलीसरकारोंकेउदाहरणोंनेभीकिसानोंमेंकर्जमाफीकीआसजगादीहै.सुनीलकेमुताबिक1993कीसपासरकारऔर2007मेंकेंद्रसरकारनेप्रदेशमेंकिसानोंका78,000रु.तककाकर्जमाफकरदियाथा.कर्जमाफीकीघोषणासेएकओरजहांकिसानोंकोराहतमिलीहैवहींदूसरीओरबैंकोंकीदिक्कतेंबढ़गईहैं.कानपुरमेंस्टेटबैंकऑफइंडियाकेस्टाफएसोसिएशनकेजोनलमंत्रीसुशीलपांडेयकहतेहैंकिरिकवरीकेआखिरीमहीनेमेंकर्जमाफीकेवादेसेबैंकोंकोनुकसानहोसकताहै.

असलमेंसपासरकारकेलिएकिसानोंकाकर्जमाफकरनाइतनाआसाननहींहोगा.राज्यकेकृषिनिदेशालयमेंतैनातएकउच्चअधिकारीबतातेहैंकिराज्यमेंकरीब30लाखकिसानऐसेहैंजिन्होंनेविभिन्नसहकारीसमितियों,सहकारीऔरराष्ट्रीयकृतबैंकोंसेफसलीऋण,खादऔरउपकरणखरीदनेकेलिएकर्जलिएहैं.यदिइनकिसानोंके50,000रु.तककेऋणमाफहोतेहैंतोकरीब15,000करोड़रु.काइंतजामकरनाहोगा.नईसरकारको19,000करोड़रु.काराजकोषीयघाटापिछलीसरकारसेउपहारकेतौरपरमिलाहै.लेकिनसपाकेप्रदेशप्रवक्ताराजेंद्रचौधरीबतातेहैंकिपार्टीप्रदेशकीमालीहालतसेवाकिफहैऔरघोषणापत्रमेंऐसीबातेंनहींकहीगईंजिसेपूरानहींकियाजासके.किसानोंकाकर्जहरहालमेंमाफहोगा.

By Ellis