किशोरजोशी,नैनीताल:उत्तराखंडमेंउत्तरकाशी,चमोली,रुद्रप्रयाग,कुमाऊंमेंपिथौरागढ़,कपकोट,धारचूला,मुनस्यारीभूकंपकीदृष्टिसेबेहदसंवेदनशीलहै।इनइलाकोंमेंदससे25किलोमीटरगहराईकेभूकंपआतेरहेहैं।इंडियनप्लेटमेंहिमालयनथ्रस्टकेजोड़मेंगतिविधियांभूकंपकीवजहहैं।लेसरहिमालयामेंसर्वाधिकभूकंपआरहेहैं।

भूकंपमेंचट्टानकीअपेक्षामिट्टीवालेस्थानोंपरअधिकनुकसानहोताहै।इसदृष्टिसेराज्यकेरुद्रपुर,काशीपुर,अल्मोड़ा,देहरादून,पौड़ीबेहदसंवेदनशीलहैं।1999से2018केबीचही5500सेछहहजारभूकंपरिकार्डकिएगएहैं।छहसौभूकंपऐसेहैं,जिनकीतीव्रता3.5मैग्नीट्यूडहैजबकिअन्यकीरेंजएकसेछहमैग्नीट्यूडहै।शोधकेनतीजोंपरगहराईसेअध्ययनकियाजारहाहै।

कुमाऊंविविकेभूगर्भविज्ञानविभागमेंपहलेप्रोसीसीपंतवअबप्रोराजीवउपाध्यायकेअधीनशोधकररहेडासंतोषजोशीनेभूकंपकीसंवेदनशीलतापरविस्तृतअध्ययनकियाहै।यहशोधपत्रजनल्सआफअर्थक्विकइंजीनियर्समेंप्रकाशितहोचुकाहै।भूगर्भविज्ञानकीओरसेपृथ्वीमंत्रालयकेसहयोगसेपिथौरागढ़केमुनस्यारी,तोली,चमोलीकेभराणीसैंण,चंपावतकेसुयालखर्क,कालखेत,धौलछीना,मासी,देवाल,फरसालीकपकोट,पांगलापिथौरागढ़,कुमईयांचौड़मेंभूकंपमात्रीयंत्रस्थापितकिएगएहैं।

भूकंपकीदृष्टिसेसंवेदनशीलहैउत्तराखंड

डाजोशीकेअनुसारराज्यभूकंपकीदृष्टिसेबेहदसंवेदनशीलहै।संवेदनशीलक्षेत्रजोनचारवअतिसंवदेनशीलजोनपांचमेंआताहै।जोनपांचमेंरुद्रप्रयागकाअधिकांशभाग,बागेश्वर,पिथौरागढ़,चमोली,उत्तरकाशीजबकिऊधमसिंहनगर,नैनीताल,चंपावत,हरिद्वार,पौड़ीगढ़वाल,अल्मोड़ाजोनचारमेंहैं,देहरादूनवटिहरीदोनोंजोनमेंआतेहैं।जोशीकेअनुसारहिमालयीक्षेत्रमेंइंडो-यूरेशियनप्लेटकीटकराहटकेचलतेजमीनकेभीतरसेऊर्जाबाहरनिकलतीरहतीहै।

दससालमेंआए5500सेअधिकभूकंप

डाजोशीकेअनुसारअध्ययनमेंपताचलाहैकि1999से2018केबीचही5500सेछहहजारभूकंपरिकार्डकिएगएहैं।छहसौभूकंपऐसेहैं,जिनकीतीव्रता3.5मैग्नीट्यूडहैजबकिअन्यकीरेंजएकसेछहमैग्नीट्यूडहै।शोधकेनतीजोंपरगहराईसेअध्ययनकियाजारहाहै।इनइलाकोंमेंदससे25किलोमीटरगहराईकेभूकंपआतेरहेहैं।

By Farrell