जागरणसंवाददाता,उत्तरकाशी:उत्तराखंडकीसंस्कृतिकोअपनीपें¨टगकेजरियेदिखानेकाप्रयासकरनेवालेपनघाआर्टिस्टग्रुपकेसदस्योंकोदिल्लीमेंस्थितमहाकौथिकमेंअपनीकलाकृतियोंकेलिएसम्मानितकियागया।पनघाग्रुपकेकलाकारोंनेउत्तराखंडकीसंस्कृतिकेसंरक्षणवस्वच्छतासेसंबंधितपें¨टगराज्यकेविभिन्नस्थलोंपरतैयारकीहै।

बीतेसोमवारकोदिल्लीमेंआयोजितउत्तराखंडकेविशालसांस्कृतिकमेलामहाकौथिककीओरसेउत्तरकाशीकेपनघाआर्टिस्टग्रुपकोआमंत्रितकियागया।जहांगंगोत्रीसेलेकरऋषिकेशतककईस्थानोंपरउत्तराखंडकीसंस्कृतिकोदर्शानेतथास्वच्छताकोप्रेरितकरनेवालीतस्वीरोंकोबनानेकेसम्मानितकिया।पनघाग्रुपकेसदस्यउत्तमरावतनेबतायाकीपनघानामसेग्रुपअगस्त2017मेंबनाया।जिसमेंउत्तरकाशीभटवाड़ीतहसीलकेएसडीएमदेवेन्द्र¨सहनेगीनेसबसेज्यादाप्रोत्साहितकियाहै।जिसकेबादउत्तरकाशीसहितगंगोत्री,हर्षिलसहितऋषिकेशमेंभीउनकेग्रुपकेद्वाराकईतरहकीकलाकृतियांतैयारकीगई।दिल्लीमेंसम्मानपानेवालेकलाकारोंमेंग्रुपकेसंस्थापकमुकुलबडोनी,आर्टिस्टउत्तमरावत,लक्ष्मीप्रसादखंडूरीशामिलथे।इनकलाकारोंनेमहाकौथिककेआयोजकोंवकलाकृतिबनानेकेलिएप्रेरितकरनेवालेएसडीएमदेवेंद्र¨सहनेगीकाआभारव्यक्तकिया।

By Doherty