पश्चिमचंपारण[सौरभकुमार]।वाल्मीकिटाइगररिजर्व(वीटीआर)अपनीहसीनवादियोंकेलिएपहचानाजाताहै।सरकारयहांपर्यटनकोबढ़ावादेनेकेलिएलगातारप्रयासकररहीहै।वहीं,वाल्मीकिनगरसेकरीबपांचकिलोमीटरदूरदरुआबारीगांवकेसमीपवीटीआरकेजंगलमेंबौद्धइतिहासकेमहत्वपूर्णसाक्ष्यजमींदोजहैं।इसेदुनियाकेसामनेलाकरपर्यटनस्थलबनानेकाप्रयासनहींहोरहा।

बगहाअनुमंडलकेदरुआबारीगांवमेंथारूवजनजातिसमुदायकेलोगरहतेहैं।चंपारणगजेटियरकेअनुसार,चीनीयात्रीह्वेनसांगसातवींसदीमेंयहांआयाथा।उसनेयात्रावृतांतमेंदरुआबारीकोरामग्रामबतायाहै।कहाजाताहैकियहांबड़ाबौद्धस्तूपथा।जंगलकेबीचकरीबपांचदर्जनपुरानेकुएंइसकीगवाहीभीदेतेहैं।इसकीपुष्टिकिलेवदीवारोंकेअवशेषोंसेभीहोतीहै।

बगहानिवासीवबेंगलुरुकेअमृताविश्वविद्यापीठममेंदर्शनशास्त्रवअध्यात्मकेप्राध्यापकडॉ.प्रांशुसमदर्शीनेशोधकेदौरानमई2012मेंइसक्षेत्रकाजायजालियाथा।उनकाकहनाहैकिदरुआबारीमेंमिलनेवालेपुरातात्विकअवशेषबौद्धकालसेजुड़ेलगतेहैं।गांवकेसमीपएकपुरानातालाबहै।एककुएंकेपासबलुआपत्थरकेबनेदोमगरमच्छजमीनमेंदबेदिखतेहैं,जोकिसीप्राचीनभवनकेअवशेषहोसकतेहैं।गांवकेउत्तर-पश्चिमछोरपरदीवारेंबनीहैं,जोशायदइसप्राचीननगरकीपरिधितयकरनेकेलिएनिर्मितकीगईथीं।वहबतातेहैंकिअंग्रेजइतिहासकारङ्क्षवसेंटस्मिथभीयहांआचुकेहैं।उन्होंनेइसेबौद्धकालकाप्रसिद्धनगररामग्रामबतायाथा।

बुद्धकीजन्मस्थलीसेतकरीबन50किमीदूररामग्राम

बुद्धकेनिर्वाणकेबादउनकेशरीरकेअवशेष(अस्थियां)कोआठभागोंमेंविभाजितकरआठस्तूपबनाएगएथे।येकुशीनगर,पावागढ़,वैशाली,कपिलवस्तु,रामग्राम,अल्लकल्प,राजगृहऔरबेटद्वीपमेंबनेथे।रामग्रामकाअभीपतानहींहै।बुद्धकीजन्मस्थलीनेपालकेलुम्बिनी(कपिलवस्तु)सेदरुआबारीतकरीबन50तोपरिनिर्वाणस्थलकुशीनगरसे100किलोमीटरदूरहै।

दरुआबारीकेकार्तिककाजीऔरअर्जुनमहतोबतातेहैंकियहांबुद्धसेजुड़ेप्राचीनअवशेषहोनेकीबातपूर्वजोंसेसुनतेआएहैं।सरकारयदिइसस्थलकीखोदाईकराएतोनिश्चितरूपसेपर्यटनकेदृष्टिकोणसेमहत्वपूर्णस्थलसाबितहोगा।इसेबौद्धसर्किटसेभीजोड़ाजासकताहै।एसडीएमविशालराजबतातेहैंकिपुरातत्वविभागइसकीखोदाईकराए,इसकेलिएप्रयासहोगा।

By Doyle