जागरणसंवाददाता,प्रतापगढ़:प्रदेशकेकईजिलेमेंवायरलबुखारकाशिकंजाकसनेकाडरप्रतापगढ़मेंभीमहसूसकियाजारहाहै।इनदिनोंयहांभीमौसमीवायरलबुखारकेमामलेतेजीसेबढ़रहेहैं।बड़ोंसेलेकरबच्चोंतकपरइसकाअसरहै।बच्चोंपरकुछज्यादाहीकहरहै।उनकोवायरलकेसाथहीडेंगू,मलेरियाऔरदिमागीबुखारकाभीखतराबनाहै।बुखारकेवारसेकराहतेबच्चोंकीभीड़मेडिकलकालेज,सीएचसी,पीएचसीसेलेकरनिजीअस्पतालोंतकमेंदेखीजारहीहै।हरजगहबच्चेभर्तीकरायेजारहेहैं।हालातसमझनेकेलिएयहीकाफीहैकिमेडिकलकालेजकेचिल्ड्रेनवार्डमेंदोदिनकेभीतर22बच्चेभर्तीकरायेगएहैं।

-मासूमअनेक,लक्षणएक

चारमहीनेसेलेकरतीनसालतकबच्चोंकोएकजैसेलक्षणपाएजारहेहैं।सीनियरचाइल्डस्पेशलिस्टडा.मनोजगुप्ताकहतेहैंकियहसीजनबच्चोंकीतबीयतकेलिहाजसेकाफीसंवेदनशीलहै।हमारीजरासीअसावधानीबच्चोंकेस्वास्थ्यकेलिएहानिकारकहोसकतीहै।बच्चोंपरध्यानदेंऔरनजररखें।अगरउनकोखांसी,सर्दी,जुकामऔरसीनेमेंजकड़नकीसमस्याहोरहीहै।नाकबहना,अधिकरोना,दूधनपीना,कमसोनाजैसीकामनसमस्याबनीहै।ऐसेसंक्रमितबच्चोंकोलेकरतत्कालअस्पतालपहुंचे।अस्पतालआनेवालेअभिभावकवायरलकेसाथडेंगूवदिमागीबुखारकेअंदेशेसेडरेरहतेहैं।

-तीमारदारोंकीभीड़सेखतरा

बच्चोंकेवार्डमेंभीतीमारदारोंकीभीड़लगरहीहै,जोसंक्रमणफैलासकतीहै।भीड़कोकमकरनेकेलिएअस्पतालप्रशासनबेपरवाहबनाहुआहै।सीएमएसस्तरसेकोईनिर्देशनहींदिएजातेहैं।नहीसुरक्षाकर्मीवहांपरचक्करलगातेहैं।इसकारणएकबच्चेकेसाथचार-चारलोगतकवार्डमेंभीड़लगाएरहतेहैं।

By Duffy