संवादसहयोगी,भभुआ:जिलेकेकईमध्यविद्यालयमेंखेलकासंसाधनउपलब्धहोतेहुएभीखेलकीआठंवीघंटीनाममात्रकीरहगईहै।विद्यालयमेंखेलकेकईप्रकारकेसंसाधनउपलब्धहैं।इसकेबावजूदभीखेलसेबच्चेवंचितहै।बिहारशिक्षापरियोजनाकेतहतखेलकूदकरानेकेलिएतिथिभीघोषितकरदीगईहैं।इसकेतहतसीआरसीवबीआरसीकोनोटिसभीभेजनेकाकामहोरहाहैं।लेकिनबड़ीबातयहहैकितनेविद्यालयकेपासखेलकेलिएपरिसरतकउपलब्धनहींहैं।तोकुछविद्यालयोंकेपासखेलकेसंसाधनोंकाहीअभावहैं।जिससेविद्यालयोंमेंपढ़नेवालेछात्र-छात्राओंकीप्रतिभानिखरनहींपाती।

विद्यालयमेंखेलकापरिसरनहीं:शिक्षाविभागकेअंतर्गतचलरहेविद्यालयोंमेंखेलकेलिएपरिसरउपलब्धनहींहैं।जिससेविद्यालयमेंरूटिनकेअनुसारपढ़ाईहोनेकेबादआठवींघंटीमेंबच्चोंकाखेलनेकासपनाअधूरारहजाताहै।वहींपरिसरनहींरहनेसेविद्यालयमेंरखेसारेसंसाधनखराबहोरहेहैं।जिससेछात्रोंमेंखेलकेप्रतिजागरूकतानहींआपाती।

संसाधनकीभीहैकमी:कईविद्यालयोंमेंमैदानहोतेहुएभीखेलकेसंसाधनउपलब्धनहींहैं।जहांबच्चेखेलकेसंसाधनकेबिनाहीखेलकूदकरतेहैं।कुछबच्चेमैदानमेंबैठकरआपसमेंबातचीतकरतेहैं।कुलमिलाकरखेलकेलिएप्रखंडसेलेकरजिलाकेअधिकारीभीइसबातपरध्याननहींदेते।वहींइसीक्रममेंभभुआनगरमेंस्थितनगरपालिकामध्यविद्यालयमेंभीकरीबछहसौछात्र-छात्राएंपढ़तेहैं।लेकिनइसविद्यालयमेंसंसाधनकेउपलब्धहोतेहुएभीखेलमेंछात्र-छात्राएंपीछेहैं।प्रधानाध्यापकपीयूषकुमारनेबतायाकीविद्यालयमेंखेलकासंसाधनउपलब्धहै।लेकिनपरिसरमेंइनदिनोंजलजमावसेखेलकूदबंदहैं।इसकेअलावाखेलपरिसरमेंकुछपुलिसबलभीरहतेहैं।जिससेखेलकूदकमहीहोताहैं।उन्होंनेजानकारीदेतेहुएबतायाकीविद्यालयमेंइसकेलिएशारीरिकशिक्षकधर्मेंद्रकुमारप्रभाकरवमुशाअलीहैं।जोआठवींघंटीमेंखेलकूदकरानेकाकामदेखतेहैं।उन्होंनेबतायाकीखेलकेसंसाधनमेंबॉलीबाल,फुटबॉल,क्रिकेट,लूडो,बैड¨मटन,रस्सी,¨रगबॉल,आदिउपलब्धहैं।इसकेअलावाविद्यालयकेबच्चेकबड्डीमेंभीज्यादारुचिलेतेहैं।उन्होंनेबतायाकीविद्यालयमेंकमजगहहोनेकेकारणक्रिकेटनहींखेलाजाता।इसकेअलावानगरपालिकाविद्यालयकेप्रांगणमेंतीनविद्यालयसंचालितहोतेहैं।जिससेविद्यालयकोअलग-अलगसमयमेंचलानापड़ताहैं।

क्याकहतेहैंपदाधिकारी:इससंबंधमेंपूछेजानेपरबीईओमालतीनगीनानेबतायाकीविद्यालयमेंखेलकेलिएकोईराशिनहींआतीहैं।विद्यालयकेविकासकीजोराशिभेजीजातीहैउससेकुछशिक्षकखेलकूदकासामानखरीदेहुएहैं।

By Dunn