मोतिहारी।देशकीआजादीकेबादकेंद्रवराज्यदोनोंमेंहीसरकारेंबदलतीरहीं।सूबेमेंसड़कऔरपुल-पुलियोंकाजालभीबिछा।लेकिन,इनसबकेबीचरहगईविकासकेदौड़मेंशामिलनहींहोनेकीटिस।बातबेतियालोकसभाक्षेत्रकेसुगौलीप्रखंडकीशुकुलपाकड़पंचायतकेचिलझपट्टीगांवकी।देशकोआजादीमिली।लेकिन,यहगांवएकअददपुलकेलिएखुदकोगुलामजैसामहसूसकरताहै।स्वतंत्रतासेलेकरअबतकइसगांवकेलोगबांससेबनीचचरीपुलकेसहारेहीयात्राकरनेकोमजबूरहैं।

दिल्ली-काठमांडूराष्ट्रीयराजमार्गसंख्या-28सेसटेइसगांवकेलोगउसवक्तबेहदपरेशानहोतेहैं,जबउन्हेंबरसातमेंघरसेनिकलनाहोताहै।पानीज्यादाहोजाएऔरसिकरहनाउफनाजाएतोफिरमुश्किलबढ़जातीहै।जबकभीबांससेबनाचचरीपुलगिरजाताहैतोलोगोंकोकरीबडेढ़किलोमीटरकीदूरीसुगौलीप्रखंडमुख्यालयआनेकेलिएपैदलतयकरनीहोतीहै।फिलहालगांवकेलोगएकबारफिरइसपुलकोमजबूतबनानेकीतैयारीमेंजुटेहैं।ग्रामीणयोगेंद्रसाह,संजयसाह,राजेन्द्रपटेल,मुन्नासाह,बिहारीपटेल,पुण्यदेवयादव,लालमतीदेवीवअन्यबतातेहैं-चुनावकेसमयपुलबनवानेकेनामपरलोगवोटलेलेतेहैं।लेकिन,जैसेहीचुनावबीतजाताहै।वेसदनमेंहोतेहैंऔरवायदेठंडेबस्तेमें।हमनेइससमस्याकोलेकरअपनेद्वाराचुनेगएजनप्रतिनिधियोंवअधिकारियोंकेयहांचक्करलगायागया।लेकिन,किसीनेहमारीसुधनहींली।लगताहैकिविकासकेमामलेमेंहमआजभीइसएकअददपुलकोलेकरगुलामहैं।एकपुलबनजानेसेसमाप्तहोजातीपूर्वीवपश्चिमीचंपारणकेकईगांवोंकीसमस्याचिलझपटीकेलोगबतातेहैं-

गांवकीआबादीकरीब1500सौसेज्यादाहै।लेकिन,इसएकपुलसेपूर्वीचंपारणकेसुगौलीकेचिलझपटी,बड़हरवा,लालपरसावपश्चिमीचंपारणकेवैरागपुरवपरसासमेतकईगांवोंकावास्ताहै।इसपुलकेबनजानेसेकईगांवकेलोगोंकाभलाहोता।लेकिन,व्यवस्थामेंबैठेलोगोंकोयहपुलनजरहीनहींआता।प्रशासनिकअधिकारीभीकईबारझेलचुकेहैंपरेशानीबतादेंकिचचरीपुलकेकारणउत्पन्नसमस्याकोप्रशासनिकअधिकारीभीकईबारझेलचुकेहैं।एकबारतोपूर्वीचंपारणकेजिलाधिकारीरमणकुमारजबइसगांवमेंस्वच्छताकापाठपढ़ानेपहुंचेतो,उन्हेंचचरीपुलसेहोकरगुजरनापड़ाथा।स्थानीयलोगोंनेडीएमकेसमक्षअपनीसमस्यारखीथी।उन्होंनेकहाथा-पुलनिर्माणकीदिशामेंकामहोगा।लेकिन,उनकेनिरीक्षणकेभीसालगुजरगए।गांवकीसमस्यामुंहबाएखड़ीहै।

By Douglas