जागरणसंवाददाता,चंडीगढ़।चंडीगढ़केसराकारीस्कूलमेंकार्यरतअध्यापककीयहनेकपहलसराहनीयहै।बेटियोंकोसुरक्षितकरनेकेमकसदसेसरकारीस्कूलशिक्षकगौरववाधवाउन्हेंआत्मरक्षाकेगुरसीखारहेहैं।बेटियोंकेखिलाफबढ़रहेअपराधऔरबच्चियोंकोखुदकीरक्षाकरनेकेबारेमेंगौरवउन्हेंप्रशिक्षितकररहेहैं।शिक्षकगौरवकायहप्रयाससचमेंकाबिलेतारीफहै।

स्कूलटीचर गौरववाधवाऐसेअध्यापकहैंजोकिस्कूलमेंस्टूडेंट्सकोपढ़ानेकेबादबेटियोंकोसशक्तबनानेकीदिशामेंकामकररहेहैं।गौरववाधवाशहरकेगवर्नमेंटमाडलहाईस्कूलआरसी-2मलोयामेंकार्यरतहैं,जोकिस्कूलमेंपढ़ाईकरवानेकेबादस्कूलकीछात्राओंकोआत्मरक्षाकेगुरसीखानेकेलिएविशेषकैंपलगारहेहैं।सेल्फडिफेंसकेटिप्सदेनेकेलिएगौरवस्कूलकीछात्राओंकोबिनाकिसीकोचिंगफीसकेट्रेनिंगदेरहेहैं।मौजूदासमयमेंगौरवकेपास200सेज्यादाबच्चेकोचिंगलेरहेहैं।

आनलाइनसीख,छात्राओंकोदेरहेटिप्स

टीचरगौरवनेछात्राओंकोआत्मरक्षाकेगुरसिखानेकेलिएपहलेखुदआनलाइनहरटिप्ससीखतेहैं।आनलाइनसीखनेकेबादगौरवनेपहलेउनटिप्सकोस्कूलकेऔरआसपासकेलोगोंकोसिखानेशुरूकिएऔरअबस्कूलकीछात्राओंकोसीखारहेहै।

बेटियोंकोसशक्तकरनेसेहोगासमाजमेंसुधार

छात्राओंकोसेल्फडिफेंसकीट्रेनिंगदेनेवालेशिक्षकगौरवबतातेहैंकिबेटियांसमाजकाअहमहिस्साहै।हमारीबेटियांइसीलिएअसुरक्षितहैक्योंकिवहखुदकीरक्षाकरनानहींजानती।यदिबेटियोंकोखुदकीरक्षाकरनाआताहोतोनिश्चिततौरपरकिसीप्रकारकाअन्यायऔरबुराव्यवहारबेटियोंकेसाथनहींहोगा।मैंचाहताहूंकिस्कूलहीनहींपूरेशहरऔरदेशकीमेंहीहरबेटीकोआत्मरक्षाकेलिएप्रेरितकरनेकेसाथसशक्तकियाजाएताकिवहखुदकीपहचानभीअपनेस्तरपरबनासके।

By Doherty