कोच्चि,4अप्रैल|संकटग्रस्तयमनसे330भारतीयोंकोलेकरएयरइंडियाकाविमानशुक्रवारदेररातकोच्चिपहुंचा।यात्रियोंमें130केरलनिवासीऔरचारबच्चेभीशामिलहैं।केरलकेप्रवासीकल्याणमामलोंकीसरकारीइकाई‘रूट्स-नोर्का’केसीईओआर.एस.कन्नननेबतायाकिविमानरात12.30बजेकोच्चिपहुंचाऔररात1.30बजेतकसभीप्रवासीकेरलहवाईअड्डेसेबाहरनिकलचुकेथे। यहभीपढ़ें–यमनसे350भारतीयघरपहुंचे,भविष्यकोलेकरचिंता

कन्नननेकहा,“विमानमेंसवारबाकीलोगमुंबईकेलिएरवानाहोगए।पिछलीरातमुंबईमेंउतरनेवाले56केरलवासीआज(शनिवार)केरलपहुंचेंगे।हमनेआनेवालेसभीकेरलवासियोंको2,000रुपयेकीसहायताराशिऔरउनकेघरतककेलिएनि:शुल्कपरिवहनसुविधादीहै।” नामजाहिरनकरनेकीशर्तपरएकनर्सनेबतायाकियमनमेंहालातबहुतखराबहैं।

एकअन्यव्यक्तिनेबतायाकियमनमेंस्थितिअबवास्तवमेंबेहदसंकटपूर्णहै।वहांलगभग8,000भारतीयहैं,जिनमेंसेलगभग6,000नर्सेहैंऔरअभीतककेवल2,000लोगोंकोयहांलायाजासकाहै। यमनसेवापसआएएकव्यक्तिनेबताया,“अकेलेसनामें4,000भारतीयस्वदेशलौटनेकाइंतजारकररहेहैं।” इसबीचयमनसेकेरलकीनर्सनेफोनपरमीडियाकोबातायाकिउनकेसाथकुछऔरभीलोगहैं,जोअदनबंदरगाहपरपहुंचनेकाइंतजारकररहेहैं।

नर्सनेबताया,“कलहमरास्तेमेंथे,तभीवाहनपरगोलियांचलगईं।गोलियांटायरोंमेंलगीथीं,जिसकारणहमेंवापसलौटनापड़ा।हमअदनबंदरगाहपरपहुंचनेकाइंतजारकररहेहैं।हमेंबतायागयाथाकिहमेंवापसलेजानेकेलिएएकजहाजआयाहै।हमसभीप्रार्थनाकररहेहैं।”

इसबीच,केरलकेप्रवासीमामलोंकेमंत्रीके.सी.जोसेफनेबतायाकिअबभीबहुतसेलोगोंकोविस्थापितकरनेकीजरूरतहै।राज्य,केंद्रसरकारऔरयमनमेंभारतीयदूतावासकेअधिकारियोंकेसंपर्कमेंहै।

By Dodd