धन वधेयक क अर्थ

राजस्थान में भीषण गर्मी और लू के चलते बिजली की खपत 25 फीसदी से ज्यादा बढ़ी है. प्रदेश में बिजली घरों की 5 यूनिट में प्रोडक्शन बंद पड़ा है. कोयले की कमी के कारण भी फुल कैपेसिटी में बिजली का उत्पादन नहीं हो पा रहा है. 15 मई के बाद तक छत्तीसगढ़ से कोयले की सप्लाई में सुधार हो सकेगा. लेकिन तब तक महंगी बिजली खरीदकर सप्लाई दी जा रही है. पिछले साल बिजली की रोजाना औसत खपत 1990 लाख यूनिट रही थी. लेकिन मौजूदा वक्त में बिजली की प्रतिदिन खपत 2500 लाख यूनिट पार पहुंच चुकी है.

अर्थ ऑवर: सबके लिए अपनी धरती को बेहतर बनाने क

Sep 22, 2022 Ellis

अरविंदवाबले।प्रकृतिकेसंरक्षणकेप्रतिकर्नाटककेबेंगलुरुके9वर्षकेअधृतप्रदीपकाएकजुनूनहै।वहमानतेहैंकिछोटेसेछोटेजीवकाभीइसपृथ्वी