गर्दन में सूजन क करण

बड़े कैंपस में अवस्थित एसएन सिन्हा कॉलेज की में प्राध्यापक का सृजित पद 40 है। मात्र 12 प्राध्यापक कार्यरत है। इस महाविद्यालय में 28 शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं। जिससे पठन-पाठन में परेशानी होती है। फिलहाल अस्थाई तौर पर शिक्षक रखकर पठन-पाठन कराया जा रहा है। कॉलेज प्रशासन शिक्षकों की कमी दूर करने के लिए यूनिवर्सिटी को पत्राचार किये जाने की बात कही है। आंतरिक संसाधन से भी कालेज की पठन-पाठन व्यवस्था को सुचारू किया जा रहा है। कंप्यूटर साइंस के लिए दर्जनों कंप्यूटर धूल फांक रहे हैं। मगध यूनिवर्सिटी के प्रतिष्ठित व पुराने कॉलेजों में से एक माने जाने वाले एसएस कॉलेज में भी कई महत्वपूर्ण विभागों में वर्षों से शिक्षक नदारद हैं। लेकिन इस दिशा में पत्राचार के बाद कोई निदान नहीं निकाला जा सका है। लगभग पांच हजार स्टूडेंट्स की संख्या वाले इस कॉलेज में प्राणी विज्ञान